Friday, August 28, 2009

कार्टून : हम तो कीचड़ से ही काम चला लेते हैं !


5 comments:

Nirmla Kapila said...

हा हा हा सुबह सुबह बडिया तोहफा बधाई

AlbelaKhatri.com said...

बधाई !
बहुत बधाई !

Anil Pusadkar said...

स्वदेश प्रेम नज़र आ रहा है कीचड़ मे कमल मुरझा नही रहा है खिलखिला रहा है। हा हा हा हा,बढिया।

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

बहुत बढिया!!! कमल तो अखिर कीचड में ही रहेगा!

एक बात जो कि मैं कईं दिनों से सोच रहा हूँ,वो ये कि आपके अधिकांशत: कार्टूनों में कुत्ता क्यूँ दिखाई देता है..:)

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

कीचड़ का मज़ा तो है गुरू. साफ़ दिखाई दे रहा है.